การไว้ทุกข์ของวันหนึ่งในวันที่ 11 กันยายนในอินเดียสำหรับการจากไปของควีนอลิซาเบ ธ महारानी के सम्मान में 11 सितंबर को भारत में भी राजकीय शोक की घोषणा

गौामाजाजालीारानीानीापहलेบางทีजिसे

สำนักข่าวเนชั่น | แก้ไขโดย : Nihar Saxena | อัพเดทเมื่อ: 09 ก.ย. 2565, 02:57:58 น.

ราชินีอลิซาเบ ธ

11 สิทธิ์ (เครดิตภาพ: न्यूज नेशन)

ไฮไลท์

  • 11 สิทธิ์
  • मोदी सरकार ने महारानी के सम्मान में लिया यह निर्णย
  • इस दिन किसी मनोरंजन कार्यक्रम का भी नहीं होगा आयोजन

ภาษาอังกฤษ:

ภาษา गुरुवार को महारानी का स्कॉटलैंड में निधन हो गया था. ภาษาไทย गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि राजकीय शोक पर देश भर की सभी सरकारी इमारतों वार की सभी सरकारी इमारतों की र से जारी बयान में कहा गया है कि राजकीय शोक पर देश भर की सभी सरकारी इमारतों कार में ไตรรงค์ (ไตรรงค์) आधा झुका हुआ रहेगा. साथ ही उस दिन सरकार की और से मनोरंजन का कोई भी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया จิรดา. 96 วัน महारानी (ควีนเอลิซาเบธ) की स्कॉटलैंड मौत से उनके अंतिम संस्कार की प्रक्रिया में थोड़े पेंच ला दिए हैं. อับดุลบาตร ‘ऑपरेशन यूनिकॉर्न’ (ปฏิบัติการยูนิคอร์น) शुाहै इसके तहत महारानी को दफनाएं जाने के पहले दस दिनों तक कैसी क्या प्रक्रिया रहेगी, इस पर अमल ची शुरु

गृह मंत्रालय ने जारी किया बयान
गृहालयाहैाहै, ‘,’, ‘ दिवंगत गणमान्य व्यक्ति के सम्मान में भारत सरकार ने 11 सितंबर को देश भर में राजकीय शोक मनान्य का निर इस दिन देश भर की सभी सरकारी इमारतों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और सरकार की ओर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और सरकार की ओर से किनारी भनक्य्य ा झुका रहेगा और सरकार की ओर से किनरी भनक्य्यरी

ยี บะริษัท ไก นิล สุมณฑน์ เชรดิษฐ์ को मिलेगी महारानी एलिजाबेथ की निजी संपत्ति

แบลนเตน มอน ऑ परेशन यूनिकॉर्न प्रोटोकॉल का पालन शुरू
गौामाजाजालीारानीानीापहलेบางทีजिसे इसके तहत महारानी की मौत के दिन को ‘ ดี-ด ‘ और उसके बाद हर गुजरते दिन को ‘คุณ+1’ और ‘ดี +2’ कं गुजरते दिन को ‘डी+1’ और ‘ดี +2’ कं रूारप मा गौरतलब है कि महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने 1952 में किंग जॉर्ज षष्ठम की मौत के बाद ब्रिटिश राजतशहाजाला का कि






คำศัพท์

เผยแพร่ครั้งแรก : 09 ก.ย. 2565, 02:56:35 น.



ทั้งหมดล่าสุด ข่าวอินเดียดาวน์โหลด News Nation Android และ iOS แอพมือถือ




Crd